मंगलवार, 14 सितंबर 2010

ऐसी “जुगाड़े” तो सिर्फ इंडिया में ही हो सकतीं है ..(तस्वीरें)

“जुगाड” शब्द से तो आप भली भांति परिचित ही होंगें | इंडिया में “जुगाड” से ही बहुत से काम बन जाते है | आप भी कई काम “जुगाड” लगा कर ही लेते होंगे |और ये सिर्फ “भारत” में ही होती है |

बड़े बड़े काम बन जाते है ..बस एक जुगाड से ..

चलो देखते है ..कुछ जुगाड़े …

2695113774_0cf4148c70_z

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

इस जुगाड से तो आप परिचित होंगे ही ..अगर नहीं तो बता देते है …ये ऐसा वाहन है जिसे जुगाड फिट करके “गांव” में ही बना लिया है …ना ही इसका कोई “नंबर” होता है और ना ही इसका कोई “लायसेंस”….ये “पंजाब तथा पश्चमी उत्तर प्रदेश” में खूब चलती है …

अब ज़रा इसे तो पढ़िए ……..

DSCF0022

 

 

 

 

 

 

 

 

अब “जुगाड न० २” …ये तो नहीं पता कि ये “जुगाड” कहाँ चलती है …पर है कमाल की …

desi_jugaad

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

अब एक “जुगाड” जिसे मैंने भी खूब चलाया ..जब “गांव” में था …खूब क्रिकेट सुनी है …जो “सेल" टार्च से रिटायर हुए ..वे इस जुगाड से चलते थे | या फिर ये और “जुगाड” चलाते थे कि रेडियो से रिटायर सेल ...को…ऐसे ही आपस में जोड़कर …एक(या दो या तीन) “LED बल्व” जला लेते थे ..और वो शाम को काफी काम आता था |

jugaad_battery

 

 

 

 

 

 

 

 

 

चलो …अब इस “जुगाड” को देख लीजिए …

images

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

remya_jose

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

t1larg.invention.nih

 

 

 

 

 

 

 

 

देशी तरीके से “पानी” को शुद्ध करने की “जुगाड”

ये तो मात्र एक झलक थी ..हम लोग जाने कितने “जुगाड़ों” से काम चला लेते है |

आप भी अपनी कोई “जुगाड” जरूर बताएं ….

अगर और किसी “जुगाड” के बारे में पढाना चाहते हो तो यहाँ क्लिक करें |

9 टिप्पणियाँ:

Ratan Singh Shekhawat ने कहा…

वाकई सारे जुगाड़ एक से बढ़कर एक

गजेन्द्र सिंह ने कहा…

बहुत बढ़िया प्रस्तुति , ये देश ही जुगाड़ का है .....

एक बार इसे जरुर पढ़े, आपको पसंद आएगा :-
(प्यारी सीता, मैं यहाँ खुश हूँ, आशा है तू भी ठीक होगी .....)
http://thodamuskurakardekho.blogspot.com/2010/09/blog-post_14.html

नरेश सिह राठौड़ ने कहा…

हिन्दी ब्लॉग पर जुगाड पुरान तो चलता ही रहता है | ये सब जुगाड बहुत ही नए है | लेकिन जुगाड संबंधी कोइ बढ़िया वेबसाइट नहीं मिली है |

डॉ. मोनिका शर्मा ने कहा…

बहुत अच्छे राहुल.....
बड़ी जानकारी देने वाली पोस्ट का जुगाड़ किया है......:)
सचमुच काफी अच्छी लगी ये प्रस्तुति....

निर्मला कपिला ने कहा…

चलो आपने भी टिप्पणी लेने का जुगाड बना ही लिये। बहुत खूब। बधाई।

राज भाटिय़ा ने कहा…

सचमुच मै इन जुगाडो को देख कर तो दिमाग ही हिल गया, बहुत सुंदर

dhiru singh {धीरू सिंह} ने कहा…

काफ़ी जुगाड से जुगाडो का फोटो संकलन किया आपने . मोटर साईकिल वाली जुगाड की जानकारी हो तो जरुर दे>

anshumala ने कहा…

वाह भाई वाह क्या बात है आज तो हम दोनों की पोस्ट का विषय ही एक है "जुगाड़" फर्क इतना है की आप भारत के जुगाड़ दिखा रहे है और मै पूरी दुनिया की | वैसे क्या आप को पता है की जो पहली तस्वीर आपने लगाई है उसका नाम ही जुगाड़ रख गया है |

ज्योति सिंह ने कहा…

wakai har jugaad laazwaab hai .kya kare fokat me kaam nikaalana ho to kuchh is tarah hi dimag daudte hai ,aapne sachitr khoob darshaya .

 

जरा मेरी भी सुनिए Copyright © 2011 -- Template created by O Pregador -- Powered by Blogger